Raj kumar's Friends

  • Kausar Ansari
 

raj kumar's Page

Latest Activity

Subodh Kumar commented on raj kumar's blog post नीतीश ,मीडिया और बिहार का सच -अरुण साथी
"Dada ji, pita ji aur putra sab milkar daru jarur pite hai, ab alam to yi bhi hai ki sadi-biyah mi aurat bhi khub pitee hai"
Oct 29, 2010
Subodh Kumar commented on raj kumar's blog post नीतीश ,मीडिया और बिहार का सच -अरुण साथी
"Alouli (SC, Khagaria) ki isthati to oor bhi bura hai. Na Pul hai, Na Road, Bijli, Pani, Chapakal,kuch bhi nahi hai, Agar kuch hai to koie hami Bahyai! Fir bhi Nitish ji ki Development Dairly m achhi graph hai. Na kuch houa hai aour naa hi kuch…"
Oct 29, 2010
raj kumar posted blog posts
Oct 29, 2010
kausar alam siddique commented on raj kumar's blog post नीतीश नरेंद्र की नौटंकी
"वाह भैया , वाह , बहुत बढ़िया प्रस्तुति ! चलिए इस नौटंकी से ही सही, नितीश की नैया पार लग जाये"
Oct 27, 2010
raj kumar replied to Sujeet Verma's discussion If anybody here from Ranchi.....please book a seat in KANKE for SHARAD YADAV ............wo jald hi jane wale hain ....
"SHARAD YADAV KIYA KEH RAHA HAI PATA CHAL RAHA HAI KIYA HO GIYA HAI SAMAJ SE PARE ABHIE DELHI ME BHI GHALAT STATMENT DE DIYA THA WAHA BHI BAHUT IMAJE KHARAB HUA ARE ABHI DO DIN PHELEHE RAHUL JI GANGA ME BHA RAHE THE ARE ABHI LALLU KE SATH SATH…"
Oct 27, 2010
raj kumar posted a blog post

नीतीश नरेंद्र की नौटंकी

नीतीश नरेंद्र की नौटंकीअच्छा लगा नरेंद्र मोदी के हाथ में नीतीश कुमार का हाथ देखकर। मोदी ने थामा भी था मज़बूती से। फ्रेम में नीतीश उस नेता की तरह लग रहे थे जो बड़े नेता के साथ फोटू खींचवाकर गदगद हो जाता है। चुनाव शुरू होने से पहले नीतीश ने साफ साफ कहा था कि नरेंद्र मोदी के साथ मंच साझा करने की कोई ज़रूरत नहीं। सवाल पूछने वाली एनडीटीवी की पत्रकार साफ साफ कह रही थी कि आप कभी मोदी के साथ मंच शेयर नहीं करेंगे तो नीतीश यही जवाब देते…See More
Oct 27, 2010
Subodh Kumar commented on raj kumar's blog post नीतीश का बिहार, बिहार की छवि
"Geeta Updesh: jo ho raha hai! aur jo hoga! dono achha. Jai Bihar."
Oct 25, 2010
raj kumar posted a blog post

नीतीश का बिहार, बिहार की छवि

अगर अख़बार चारण का काम करने लगेंगे तो जनता के सवालों को सरकार तक कौन पहुंचाएगा? : सरकार की योजनाओं और कामों को प्रचारित करने के लिए जनसंपर्क विभाग होता है. हर सरकार यही चाहती है कि उसके अच्छे कामों का प्रचार हो और सरकार की कमज़ोरियां बाहर न आएं. सरकार की विफलताओं और कमजोरियों को जनता के सामने लाना मीडिया का काम है. लेकिन बिहार में स्थिति अलग है. बिहार में अघोषित सेंसरशिप लागू है. पटना के अख़बारों ने नीतीश सरकार की ग़लतियों और बुराइयों को छापना बंद कर दिया है. सरकार के ख़िलाफ़ ख़बर छापने पर अख़बार…See More
Oct 23, 2010
Mohit commented on raj kumar's blog post "दिल वाले बचाए दिल अपना, हम तीर चलाना क्यों छोड़े ! "
"The writer of the above article has got skills to make people believe that every progress is not up to the mark. He can call it lipa-poti, i choose to call it laying of foundation, and if a magnificent building is not build upon it, i will be the…"
Oct 18, 2010
Mohit commented on raj kumar's blog post नितीश कुमार दूध के धुले हैं - बाकी सब चोर !!!
"Sorry but the figures that appears in ur borrowed article is exaggerated. According to RTI, from 2005-09 till February 28, 2010, the state government gave advertisements for around 38,000-odd works and spent Rs 64.48 crore on them whereas in the…"
Oct 17, 2010
Abhishek commented on raj kumar's blog post "दिल वाले बचाए दिल अपना, हम तीर चलाना क्यों छोड़े ! "
"श्रीमान राज कुमार जी, बदलाव कभी भी सामुहिक असंतोष से उपजती है. और इस आंधी में सारे समीकरण ध्वस्त हो जाते हैं. ये सही कहा आपने की बदलाव किसी की जीत कम और किसी की हार ज्यादा होती है. राजनीतिक अनैतिकता और भ्रस्टाचार ने हमारे सोंचने-समझने के तरीके पर…"
Oct 17, 2010
Abhishek commented on raj kumar's blog post नितीश कुमार दूध के धुले हैं - बाकी सब चोर !!!
"उल्लिखित तथ्य सत्य हो सकते हैं और ऐसी परंपरा भी रही है. अंतर इतना ही है कि किरदार बदल जाते हैं. आज जिन जातियों की दुहाई दी जा रही है कभी उन्होंने क्या कुछ नहीं किया! हाँ आधुनिक पिछड़े शिक्षित और एक गणतंत्र के नागरिक हैं और इसीलिए वे आवाज़ उठा सकते…"
Oct 17, 2010
raj kumar commented on RAJKUMAR SINGH's blog post FROM BHAINSTOP TO LAPTOP AND BACK.... STORY OF A MANAGEMENT GURU , LALOO !
"AAP KIS KE BARE ME LIKH RAHE HAI BIHAR KE SHAAN KE KHAILAF HAI ARE AAP TO BAHUT SAMAJDAR ARE KAMYAB INSAN HAI .ARE HUM LOGE AAP SE IMPRES BHI HAI PLS AAP AGE AYE ARE KHUCH BIHAR KE LIYE KARE UMMID KE AAP SOUCHE GE ARE KHUCH APNA YOUGDAN DEGE ."
Oct 17, 2010
raj kumar posted blog posts
Oct 17, 2010
raj kumar commented on syed asifimam kakvi's blog post नीतीश कुमार को लालू यादव का शुक्रगुजार होना चाहिए।
"weh kiya bat hai kakvi saheb bahut achha yeh to sahi hai lallu are niteesh dono eik hi ke chela hai per bahut faraq hai .kash yeh humare neta desh ke liye khuch kare bus hum yahi kamna kerte hai kakvi ji ."
Sep 22, 2010
raj kumar and Kausar Ansari are now friends
Sep 21, 2010

Profile Information

What do you do?
jobe

Raj kumar's Blog

नीतीश ,मीडिया और बिहार का सच -अरुण साथी

Posted on October 29, 2010 at 10:00am 2 Comments

नीतीश ,मीडिया और बिहार का सच -अरुण साथी ( Date : 28-10-2010)…

Continue

नीतीश नरेंद्र की नौटंकी

Posted on October 27, 2010 at 1:30pm 1 Comment

नीतीश नरेंद्र की नौटंकी

अच्छा लगा नरेंद्र मोदी के हाथ में नीतीश कुमार का हाथ देखकर। मोदी ने थामा भी था मज़बूती से। फ्रेम में नीतीश उस नेता की तरह लग रहे थे जो बड़े नेता के साथ फोटू खींचवाकर गदगद हो जाता है। चुनाव शुरू होने से पहले नीतीश ने साफ साफ कहा…
Continue

नीतीश का बिहार, बिहार की छवि

Posted on October 23, 2010 at 8:00pm 1 Comment

अगर अख़बार चारण का काम करने लगेंगे तो जनता के सवालों को सरकार तक कौन पहुंचाएगा? : सरकार की योजनाओं और कामों को प्रचारित करने के लिए जनसंपर्क विभाग होता है. हर सरकार यही चाहती है कि उसके अच्छे कामों का प्रचार हो और सरकार की कमज़ोरियां बाहर न आएं. सरकार की विफलताओं और कमजोरियों को जनता के सामने लाना मीडिया का काम है. लेकिन बिहार में स्थिति अलग है. बिहार में अघोषित सेंसरशिप लागू है. पटना के अख़बारों ने नीतीश सरकार की ग़लतियों और बुराइयों को छापना बंद कर दिया है. सरकार के ख़िलाफ़ ख़बर छापने…

Continue

नितीश कुमार दूध के धुले हैं - बाकी सब चोर !!!

Posted on October 17, 2010 at 11:07am 2 Comments

नितीश कुमार ने नया कानून लाया है ! बढ़िया है ! पर मेरे भी कुछ सवाल हैं - हुज़ूर , आपके पहले तीन साल में सिर्फ और सिर्फ आपका एक डिपार्टमेंट करीब १०० करोड़ का प्रचार अखबारों में करता है ! अगर पांच साल का हिसाब जोड़ा जाये तो यह आंकड़ा करीब २०० करोड़ तक पहुँच जायेगा ! बढ़िया है - आपके काम का प्रचार तो होना ही चाहिए ! जी यह डिपार्टमेंट आपके खासमखास अधिकारी चलाते हैं जो खुद एक बहुत बड़े नेता के दामाद हैं और उनके बड़े भाई 'दिल्ली'…
Continue

Comment Wall

You need to be a member of Bihar Social Networking and Online Community to add comments!

Join Bihar Social Networking and Online Community

  • No comments yet!
 
 
 

© 2014   Created by YouBihar

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service