क्या कहें , किस से कहें ,कैसे कहें ............या ना कहें !

मैं शायिरी भी करता हूँ और मेरे कुछ दोस्तों ने शराफत में कहा भी है कि " हाँ ठीक ठाक ही लिख लेते हो "  हमारे जैसे अभागे उम्मीद करते ही रह जाते हैं कि कोई कहे कि हाँ  उम्दा लिखा है .तो आज भी ऐसी उम्मीद पाले हूँ पर नाउम्मीदी से गुरेज भी नहीं रहा .

लेकिन आज शायिरी नहीं सुनाने जा रहा . जो कहने जा रहा हूँ वह ऐसा है , सच है , कि शायिरी नहीं बन सकता . क्योंकि वो मेरी विनम्र साफगोई ही होगी .......... शायद !

हम ' यू बिहार हैं '. हम  ' हम बिहार ' नहीं बन सकते ? मेरा अपना ख्याल है कि हम सब  आये तो हैं अपनी यही  पहचान लेकर .सच कहूं पहचान से ज्यादा प्यार लेकर .याकि ऐसा हो .

अगर कोई दो व्यक्ति सम्पूर्ण एकमत हों तो निश्चित है एक मूर्ख होगा या ज्यादा संभावना है दोनों ही हों.या दोनों संत हों .किसी का हो तो है मेरा नहीं है ऐसा कोई दावा.अतः असहमति सहज है .अनिवार्य भी !सोद्देस भी .कम से कम उद्देस और लक्ष ' व्यक्तिगत ' तो .............. तो न बने ! 

लेकिन वह असहमति कैसी हो और उसका स्वरुप क्या हो .सीमा क्या हो . तय नहीं किये जा सकते ! या कम से कम तर्जेबयानी........................ ?

मैं कुछ एक से असहमत होने पर अपनी लक्षमण रेखा पार कर गया .नहीं होना चाहिए था .पर हुआ . ऐसा नहीं हो , कुछ सोचें ?

लेकिन उस से पहले ये सोचें कि एक बात पर हम सभी सहमत हैं .अगर असहमत हैं तो फिर यहाँ क्यूं हैं ? हम सब सहमत हैं कि हम बिहार से प्यार करते हैं .यह सहमती और सब असहमतियों पर भारी नहीं पड़ सकती ?

कोशिश तो करें .बिना गिला शिकवा किये ज्यादा . बाकी आप कहें .कभी लगेगा कि कहना चाहिए या सहमत असहमत होना चाहिए तो आपके बीच मैं हमेशा रहूँगा ही .

शालू जी तो हैं ही !



Views: 342

Reply to This

Replies to This Discussion

Ye nafrat buri hai, Na paalo isay ,
Dilo main khalish hai  nikalo isay ,
Na tera  na mera na Iska  na uska
Ye sab Ka Bihar hai bacha lo isay
बहुत नेक आत्मा हैं, आप| सहश्र साधुवाद|

sunil kumar vishwakarma said:
Ye nafrat buri hai, Na paalo isay ,
Dilo main khalish hai  nikalo isay ,
Na tera  na mera na Iska  na uska
Ye sab Ka Bihar hai bacha lo isay
BAS SUNEEL , yahee spirit ham sab me banee rahe .Kitanee bhee tareef karoon aapkee , kam hee padegee .

sunil kumar vishwakarma said:
Ye nafrat buri hai, Na paalo isay ,
Dilo main khalish hai  nikalo isay ,
Na tera  na mera na Iska  na uska
Ye sab Ka Bihar hai bacha lo isay

Sir ji kayee bimari ka ilaz qualified doctor ke paas bhi nahi hotha woh bimari khar bhushiya doctor thik kar deta hai - Prem ussi daktar ka naam ha

 

Tan man dhan sab kuch hai tera.

Swami sab kuch hai tera. Tera tujh ko arpan.
Tera tujh ko arpan. Kya laage mera

बिलकुल सही कह रहे हैं अनिल जी ,

 

त्वदीयं वस्तु गोविन्दम 

त्वदीयं  समर्पयामि !

 


Anil Kumar Giri said:

Sir ji kayee bimari ka ilaz qualified doctor ke paas bhi nahi hotha woh bimari khar bhushiya doctor thik kar deta hai - Prem ussi daktar ka naam ha

 

Tan man dhan sab kuch hai tera.

Swami sab kuch hai tera. Tera tujh ko arpan.
Tera tujh ko arpan. Kya laage mera

Reply to Discussion

RSS

© 2014   Created by YouBihar

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service